तन्हाइयों में उनको ही याद करते हैं.. वो सलामत रहे यही फरियाद करते है.. हम उनकी ही मोहबत का इंतज़ार करते है.. उनको क्या पता हम उनसे कितना प्यार करते हैं।


Facebook Comments